सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

FOLLOWERS

Wednesday, August 10, 2011

क्या हूँ मै .......... ?



पन्नो   से   पूछती  हूँ  ,
कहाँ    हूँ    मै .......?

 अक्सर   तन्हाइयो    में   सोचती  हूँ ,
   क्या   हूँ    मै... ?

लगता   है    जैसे   पहचान    तो  बहुत   है ,
पर   पहचानता   कोई   नहीं .. !

 दुनिया   की   इस   भीड़   में   भी  ,
   तन्हा   हूँ  मै    !

 तूफानी   हवाओं   के   साथ   ,
   ठिकानो   की    तलाश   है ....!

पतझड़    के   मौसम   में   भी   ,
     बहारो   की   आश   है  .

छलकती   मन   की   गागर   को  ,
    सबसे   छिपाऊ   मै .....!

कागज - कलम    उठाकर   ही  ,
 अपना   दिल   बहलाऊ   मै..........!



 यह   कविता  समाचार   पत्रो   व   पत्रिकाओ   में   प्रकाशित   हो  चुकी  है   .
           कई   बार  ऐसा  होता  है  क़ि  हमारी   पहचान  तो बहुत  होती  है , पर  वास्तव   में   कोई   नहीं   पहचानता ......! 

6 comments:

  1. जब मन में भावनाएं अच्छी हों तो पहचान अपने आप बन जाती हैं।

    ReplyDelete
  2. Bahut sundar...It's very difficult to find oneself...

    ReplyDelete
  3. पन्नो से पूछती हूँ ,
    कहाँ हूँ मै .......?
    बहुत ही प्यार से...खूबसूरत रचना...

    ReplyDelete
  4. तूफानी हवाओं के साथ ,
    ठिकानो की तलाश है ....!

    पतझड़ के मौसम में भी ,
    बहारो की आश है .

    छलकती मन की गागर को ,
    सबसे छिपाऊ मै .....!

    कागज - कलम उठाकर ही ,
    अपना दिल बहलाऊ मै..........

    khoobsoorat,vaakai khoobsoorat ,geminians haar nahee maante main bakhoobee is baat ko jaantaa hoon .aakhir gemini hoon

    ReplyDelete
  5. बेहद ख़ूबसूरत और उम्दा

    ReplyDelete
  6. बहुत खूबसूरत कविता शशि जी बधाई और शुभकामनाएं

    ReplyDelete

नमस्कार मित्रों, आपके शब्द हमारे लिए अनमोल है यहाँ तक आ ही गएँ हैं तो अपनी अनमोल प्रतिक्रिया व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें. स्नेहिल धन्यवाद ---शशि पुरवार



linkwith

sapne-shashi.blogspot.com