सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

FOLLOWERS

Friday, October 12, 2012

सिंदूरी आभा


1सिंदूरी आभा
सुनहरा  गहना
साँझ है सजी .

2 अम्बर संग
अवनि का मिलन
संध्या बेला में

3 सुनहरा है
प्रकृति का बंधन
स्वर्णिम पल

4 उषाकाल में
केसरिया चुनर
हिम पिघले . 

5 शूल जो मिले 
 हम तो नहीं हारे
  छु के गगन .


6 छु लिया जहाँ
मिला श्रम का मोल
सुहानी भोर 


7 सुनहरा है
आने वाला सबेरा
नया जीवन

8 पाया है जहाँ 
सुनहरा आसमां
कर्मो से सजा .


9 हरीतिमा की 
भीनी चदरिया 
 सावन भादो 

10 नयना प्यासे 
प्रभु दरसन के 
सुनो अरज 

11 पाखी है मन 
चंचल चितवन 
 नैना सलोने .

 
-शशि पुरवार 


13 comments:

  1. बहुत प्यारी और अर्थमयी क्षणिकायें।

    ReplyDelete
  2. उषाकाल में
    केसरिया चूनर
    हिम पिघले

    बहुत ही सुंदर। बेजोड़ हैं, सभी हाइकू।

    ReplyDelete
  3. सभी हाइकु बहुत सुंदर .....!!
    शुभकामनायें ....!!

    ReplyDelete
  4. lajavab haiku hai badhai
    rachana

    ReplyDelete
  5. भावों से पूर्ण
    है हाइकु
    अंतर्मन को छूती

    ReplyDelete
  6. उषाकाल में
    केसरिया चूनर
    हिम पिघले,,,,

    बेहतरीन भावों से परिपूर्ण हाइकू ,,,,,,शशि जी,बधाई,,,,

    MY RECENT POST: माँ,,,

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर हायेकु शशि.....

    प्रकृति के सभी रंग लिए...

    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  8. बेहद खूबसूरत रंगों से सजे मनभावन हाइकु पढ़कर मन खुश हो गया, बधाई शशि जी :))

    ReplyDelete
  9. शशि जी ११ की ११ हाइकु एक से बढ़कर एक लिखी है आपने, पढ़कर तरोताजा हो गया, खूबसूरत बधाई स्वीकारें

    ReplyDelete
  10. बहुत खूब ....कमाल के हाइकु

    ReplyDelete
  11. सुंदर भावपूर्ण हाइकू !
    सादर !!!

    ReplyDelete
  12. Replies
    1. sabhi mitro ka tahe dil se aabhar aapne apne anmol shabdo se hamen gauranvit kiya .........shashi purwar

      Delete

नमस्कार मित्रों, आपके शब्द हमारे लिए अनमोल है यहाँ तक आ ही गएँ हैं तो अपनी अनमोल प्रतिक्रिया व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें. स्नेहिल धन्यवाद ---शशि पुरवार



linkwith

sapne-shashi.blogspot.com