सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

FOLLOWERS

Monday, October 22, 2012

माँ का आशीष शुभ दुलार





सब बच्चों को माँ से प्यार
माँ का आशीष
शुभ दुलार

आदिशक्ति मातृभवानी
जगतजननी कृपनिधानी
शक्तिस्वरूपा सिंहवाहिनी
महिषासुर का किया संहार
देवों का बेड़ा पार
माँ का आशीष
शुभ दुलार

कोमलांगी कमलवासिनी
विश्वव्यापी विश्वमोहिनी
शुभमंगल वरदायिनी
तेरे गुण गाए संसार
भक्तों का बेड़ा पार
माँ का आशीष
शुभ दुलार

काली, दुर्गा औ सरस्वती
अनेक रूपों में भगवती
नवरात्रि का त्यौहार
माँ का सोलह शृंगार
मन मंदिर में
बजी झंकार

-शशि पुरवार

15 comments:

  1. बहुत सुंदर रचना
    जय माता दी

    ReplyDelete
  2. बहुत ही सुन्दर रचना..

    ReplyDelete
  3. बहुत ही उम्दा प्रस्तुति,,,,

    दुर्गा अष्टमी की आप सभी को हार्दिक शुभकामनायें *

    RECENT POST : ऐ माता तेरे बेटे हम

    ReplyDelete
  4. सब शुभ हो सबका शुभ हो , माँ सबको रौशन करें प्यार से

    ReplyDelete
  5. माँ का आशीष
    शुभ दुलार ....
    बहुत सुन्दर भाव शशि जी,बेहद कोमल और सशक्त अभिव्यक्ति है ...बधाई आपको .

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर.....
    अभिभूत हूँ पढ़ कर शशि...
    माँ की कृपा बनी रहे सदा....
    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  7. भक्तिमय! भावपूर्ण!

    --
    ए फीलिंग कॉल्ड.....

    ReplyDelete
  8. माँ की सुन्दर शब्दों में स्तुति ..
    विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  9. जय माता दी सुन्दर रचना, विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  10. बहुत हि सुंदर माता कि वंदना
    विजयदशमी की शुभकामनाएँ.....
    :-) :-)

    ReplyDelete
  11. जय माता की ! सुंदर रचना है शशि जी ! बधाई !

    ReplyDelete
  12. नमो मातृशक्ति।

    विजयादशमी की शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  13. माँ की बहुत उत्कृष्ट भक्तिमय प्रार्थना.

    ReplyDelete
  14. माँ दुर्गा की बहुत भावपूर्ण स्तुति.

    ReplyDelete
  15. उत्तम काव्य-कृति..

    ReplyDelete

नमस्कार मित्रों, आपके शब्द हमारे लिए अनमोल है यहाँ तक आ ही गएँ हैं तो अपनी अनमोल प्रतिक्रिया व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें. स्नेहिल धन्यवाद ---शशि पुरवार



linkwith

sapne-shashi.blogspot.com