सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

FOLLOWERS

Friday, January 6, 2012

नया विश्वास

                                              नया वर्ष
                                                नयी डगर
                                              नया संकल्प
                                                 नया शिखर
                                              नए काम
                                                 नया नाम
                                              नयी आशा
                                                  नए विचार
                                             नया कर्तव्य
                                                नयी पहचान
                                              नया विश्वास
                                                  नया वर्ष  बनाये खास ....!
                                                                 :- शशि पुरवार

17 comments:

  1. You made new year look all the more younger and newer...Very creative!

    ReplyDelete
  2. नया वर्ष,नयी शुरुआत आपकी सुंदर रचना के साथ। बहुत ही सुंदर भाव।

    ReplyDelete
  3. अच्छी रचना हैं,नववर्ष मंगलमय हो आपको

    ReplyDelete
  4. nayi umang! re-freshening and inspiring.

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी की गई है। चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं.... आपकी एक टिप्पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

    ReplyDelete
  6. 'नया '..शब्द ही अपनाप हमें एक उमंग से रूबरू करता है..
    नया वर्ष शुभ हो..
    kalamdaan.blogspot.com

    ReplyDelete
  7. सुन्दर रचना...
    नव वर्ष की शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  8. esi navvarsh ke vishwas ke saath aapko spariwar nav varsh kee haardik shubhkamnayen..

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर...यही मंगल कामना कि नव वर्ष बना रहे खास...

    ReplyDelete
  10. बेहतरीन शब्द चयन और बहुत ही सशक्त भावाभिव्यक्ति ! अति सुन्दर !

    ReplyDelete
  11. आपकी कविता में है, नई दृष्टि, नए विचार।
    बहुत सुंदर।
    नव वर्ष की शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  12. Nav varsh ke badhai ke sath hi ak prabhavshali rachana ke liye abhar....Shashi ji

    ReplyDelete
  13. नव वर्ष की बहुत सारी शुभकामनायें .....
    मेरे ब्लॉग से जुड़ने के लिए क्लिक करैं इस लिंक पे..
    http://dilkikashmakash.blogspot.com/

    ReplyDelete
  14. rajendra ji , rohit ji , ritu ji , tripathi ji , kavita ji , kishore ji , mahendra verma ji , atul ji , saru , indu ji , ramkishore ji ......................AAP SABHI KA HRADAY SE SHUKRIYA . AAPKI SAMIKSHA HAMARE LIYE BAHUT ANMOL HAI .ABHAR

    ReplyDelete
  15. नववर्ष मंगलमय हो

    ReplyDelete

नमस्कार मित्रों, आपके शब्द हमारे लिए अनमोल है यहाँ तक आ ही गएँ हैं तो अपनी अनमोल प्रतिक्रिया व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें. स्नेहिल धन्यवाद ---शशि पुरवार



linkwith

sapne-shashi.blogspot.com