सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

FOLLOWERS

Friday, April 13, 2012

रफ्ता -रफ्ता.....

रफ्ता -रफ्ता यादो के बादल छाते है
हम तेरे शहर से दूर अब जाते है .
 
वक्त का सितम तो कुछ कम नहीं है
पर तेरी बेरूखी से हम तो मरे जाते है .

ज़माने में रुसवा न हो जाये प्यार मेरा
चुपके से नजरे झुका के निकल जाते है .

इन्तिहाँ है यह सच्चे प्यार व इंतजार की
तेरी खातिर हम झूठी मुस्कान दिखाते है .

सदैव खुश रहे तू यही दुआ है मेरी
तेरी खातिर हम खुदा के दर भी जाते है .

रफ्ता -रफ्ता .......!

:---शशि पुरवार

17 comments:

  1. बहुत ख़ूबसूरत रचना...

    ReplyDelete
  2. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति है ।

    ReplyDelete
  3. raftaa raftaa ham padhte jaate hein
    khud bhee yaadon mein kho jaate hein
    raftaa raftaa......

    ReplyDelete
  4. yahi to piyar hai.....bahut accha...

    ReplyDelete
  5. अनुपम भाव लिए बहुत सुंदर रचना...बेहतरीन पोस्ट,...शशि जी...
    .
    MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: आँसुओं की कीमत,....

    ReplyDelete
  6. वक्त का सितम कुछ भी नहीं ................क्या बात है अच्छा शेर मुबारक हो

    ReplyDelete
  7. तुस्सी ना जाओ.................

    इतनी प्यारी रचनाएँ कौन लिखेगा???
    :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. sunil ji , rajendra ji anu ji , yashwant ji , ansaari ji dheerendra ji , nisha ji , verma ji ..........aap sabhi ka hardik abhar aapne bahumulye tipni se nawaja .rachna ko

      Delete
  8. waah !!! poori tarah samrpit,,,pyar ke liye bas jiye chale jaate hai'n....behad jazbaati rachna....

    ReplyDelete
  9. सुंदर भावों से सजी खूबसूरत रचना !

    ReplyDelete
  10. सुंदर रचना...
    सादर।

    ReplyDelete

नमस्कार मित्रों, आपके शब्द हमारे लिए अनमोल है यहाँ तक आ ही गएँ हैं तो अपनी अनमोल प्रतिक्रिया व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें. स्नेहिल धन्यवाद ---शशि पुरवार



linkwith

sapne-shashi.blogspot.com