सपने

सपने मेरे नहीं आपके सपने, हमारे सपने, समाज में व्याप्त विसंगतियां मन को व्यथित करती हैं. संवेदनाओं की पृष्ठभूमि से जन्मी रचनाएँ मेरीनहीं आपकी आवाज हैं. इन आँखों में एक ख्वाब पलता है, सुकून हो हर दिल में इक दिया आश का जलता है. - शशि.
शशि का अर्थ है -- चन्द्रमा, तो चाँद सी शीतलता प्रदान करने का नाम है जिंदगी .
शब्दों की मिठास व रचना की सुवास ताउम्र अंतर्मन महकातें हैं. मेरे साथ सपनों की हसीन वादियों में आपका स्वागत है.

follow on facebook

https://www.facebook.com/shashi.purwar

FOLLOWERS

Saturday, April 20, 2013

रिश्ते .........



रिश्ते
तांका --

1
दोस्ती के रिश्ते
पावन औ पवित्र
हीरे मोती से
महकते गुलाब
जीवन के पथ पर .

2
दो अजनबी
जीवन के मोड़ पे
कुछ यू मिले
सात फेरो में बंधा
जन्मो जन्मो का रिश्ता .

3
चाँद सितारे
खिले जब अंगना
स्नेहिल रिश्ता
ममता का बिछोना
आशीष रुपी  झरे
अब हरसिंगार .

4
ये कैसे रिश्ते
नापाक इरादों से
आतंक भरे
सिमटते जज्बात
बिखरे फिर ख्वाब .

5
नाजुक रिश्ते
कांच से ज्यादा कच्चे
पारदर्शिता
विश्वास  की दीवारे
प्रेम  का है आइना .

-------शशि पुरवार 

linkwith

sapne-shashi.blogspot.com